इस बार तत्तापानी में नहीं उमड़ी भीड़ #news4
January 14th, 2021 | Post by :- | 122 Views

वीरवार को मकर सक्रांति के मौके पर करसोग के तत्तापानी में बड़े स्तरपर मेले का आयोजन नहीं हो पाया। कोरोना के कारण प्रशासन ने इस बार मेले केलिए अनुमति नहीं दी, लेकिन लोगों ने तत्तापानी पहुंच स्नान किया। सांसद रामस्वरूप शर्मा ने भी बुधवार रात को लोहड़ी करसोग में ही मनाकर सुबह तत्तापानी में आस्था की डूबकी लगाई। इस दौरान प्रशासन की निगरानी में पूरी व्यवस्थ्ज्ञा रही।

वीरवार को काफी मात्रा में श्रद्धालु स्नान व तुलादान करवाने तत्तापानी पहुंचे। शिमला-करसोग मार्ग पर तत्तापानी में कुछेक ही दुकानें सजी है। यहां पर कोरोना नियमों का पूरी तरह पालन किया जाए इसके लिए प्रशासन भी सतर्क था। गर्म पानी के चश्मों के समीप भी दुकानें कम ही सजाई गई है। लोहड़ी और मकर सक्रांति पर्व का मेला पूरा महीना चलता है। इसमें देश सहित प्रदेश के कोने कोने से श्रद्धालु पहुंचते हैं। ऐसे में मेले के दौरान लाखों का कारोबार होता है, लेकिन इस बार मेला न लगने से कारोबारियों को निराशा ही हाथ लग रही है। पिछली बार मकर संक्रांति में एक ही बर्तन में 1995 किलो खिचड़ी पकाई गई थी, जो गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुई थी। इस खिचड़ी को 20 हजार लोगों को परोसा गया था। लोगों को इस बार भी लोहड़ी और मकर सक्रांति का बेसब्री से इंतजार था, लेकिन वैश्विक महामारी ने विश्व भर में श्रद्धालुओं को मायूस कर दिया है। हर साल यहां हजारों श्रद्धालु स्नान और तुलादान के लिए आते थे। पिछले साल यहां सबसे बड़ा आयोजन किया गया था। इस दौरान एक क्विंटल से अधिक खिचड़ी बनाई गई थी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।