इन 5 ‘तरीकों’ से पता चलेगा आपके फोन में ‘पेगासस’ ने घुसपैठ की है या नहीं #news4
July 19th, 2021 | Post by :- | 146 Views

देशभर में पेगासस को लेकर हंगामा है, नेताओं, पत्रकारों और समेत कई लोगों की जासूसी करने के दावे के साथ इसके लिए सरकार पर आरोप लगाए जा रहे हैं। कांग्रेस ने सरकार पर लोगों की निजी जिंदगी में झांकने के आरोप लगाए है, वहीं सरकार ने कहा कि यह लोकतंत्र को बदनाम करने की साजिश है।

जानना जरूरी है कि आखि‍र पेगासस कैसे काम करता है और आप कैसे पता लगा सकते हैं कि इसके जरिए आपका फोन हैक हुआ या पेगासस आपके भी फोन में हो सकता है।

सवाल- कैसे आपके फोन में पहुंचता है पेगासस?
जवाब- पेगासस को किसी के भी फोन या किसी अन्य डिवाइस में रिमोटली इंस्टॉल किया जा सकता है। एक मिस्डकॉल करके भी आपके फोन में पेगासस को इंस्टॉल किया जा सकता है। इसके अलावा व्हाट्सएप मैसेज, टेक्स्ट मैसेज, एमएएस और सोशल मीडिया के जरिए भी यह फोन में जा सकता है।

सवाल- कैसे पता लगाएं कि पेगासस के जरिए आपका फोन ट्रैक किया जा रहा है?
जवाब- अगर आपके फोन में कुछ अजीब हरकतें हो रही हैं, तो सतर्क हो जाना चाहिए। फोन के प्रोसेस को मॉनिटर करके भी इसका पता लगाया जा सकता है, इसके लिए किसी लैब की मदद लेनी होगी। प्रोसेस मॉनिटरिंग से यह पता लगाया जा सकता है कि आपके फोन का ट्रैफिक कितना है और डाटा कहां ट्रांसफर हो रहा है। इसमें फॉरेंसिक लैब भी मददगार हो सकती है। आपको यह ध्‍यान रखना है कि आपके फोन में ऐसा क्या हो रहा है जिसे आप नहीं कर रहे हैं।

सवाल- क्या पेगासस को किसी दूसरे सॉफ्टवेयर से ट्रैक हो सकता है?
जवाब- पेगासस को किसी अन्य सॉफ्टवेयर के जरिए मॉनिटर नहीं किया जा सकता है। पेगासस की कोडिंग इतनी जबरदस्त है कि यह एंटीवायरस को भी बायपास कर सकता है।

सवाल- फोन में क्या-क्या कर सकता है पेगासस?
जवाब- पेगासस आपके फोन में वह सारे काम कर सकता है जो कि आप करते हैं। यह आपके कैमरे को ओपन करके फोटो क्लिक कर सकता है। मैसेज भेज सकता है, कैलेंडर चेक कर सकता है। ई-मेल से लेकर बैंक एप तक की पूरी जानकारी ले सकता है। यह माइक्रोफोन को आराम से एक्सेस कर सकता है। यह व्हाट्सएप और आईमैसेंजर जैसे एंक्रिप्टेड एप का चैट भी पढ़सकता है।

सवाल- पेगासस से बचने का क्‍या तरीका है?
जवाब- बचने का कोई तरीका नहीं है। इसे सिर्फ फर्मवेयर अपडेट के जरिए ही मारा जा सकता है। इसके लिए एप और डिवाइस को अपडेट करना बहुत जरूरी है। जब भी कोई अपडेट आए तो फोन को अपडेट जरूर करें, सिक्योरिटी पैच को अपडेट करें, अनजान नंबर से आने वाले लिंक, मैसेज, आदि को ना ओपन करें, विदेशी नंबर से आने वाले कॉल का रिप्लाई ना करें, ना रिसीव करें ना ही कॉल बैक करें।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।