सीमेंट से लदे ट्रक के ऊपर से बहने लगा बरसाती नाला, सड़क पर लगा जाम #news4
July 21st, 2021 | Post by :- | 271 Views

हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। बारिश के चलते जिले में एक दर्जन के करीब सड़कें बंद हो गईं। वहीं, नाहन में एक निर्माणाधीन मकान को भी भारी क्षति पहुंची है। बारिश के बीच सतौन क्षेत्र में करंट लगने से एक मवेशी की मौत हो गई। सोलन-मीनस रोड पर नौहराधार राजगढ़ के बीच कंडा नाले के पास सीमेंट से लदा एक ट्रक फंस गया। देखते ही देखते कंडा नाला उफान पर आ गया और तेज बहाव के साथ पानी ट्रक के ऊपर से बहने लगा। चालक ने बड़ी मुश्किल से भागकर जान बचाई। रातभर ट्रक सड़क के बीच फंसा रहा और सड़क के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। बुधवार सुबह ट्रक को निकाला गया जिसके बाद मार्ग बहाल हुआ।

मूसलाधार बारिश के चलते जिला मुख्यालय नाहन की सड़कें पानी से लबालब भर गईं हैं, जिससे राहगीरों का सड़क पर चलना तक मुश्किल गया। दो पहिया वाहन चालकों को भी तालाब बनी सड़कों को पार करने में भारी दिक्कतें झेलनी पड़ीं। मंगलवार को जिलेभर में 10 सड़कें जगह-जगह मलबा आने से बंद हो गईं। इससे लोक निर्माण विभाग को 19.19 लाख रुपये का नुकसान पहुंचा है। सिरमौर में जारी बारिश से सड़कों की हालत बेहद खस्ता हो चली है, जिस पर वाहनों का सफर भी मुश्किल हो गया है।

विभाग के अधीक्षण अभियंता वीएन पराशर ने बताया कि जिले में मंगलवार को 10 सड़कें बंद होने से विभाग को भारी नुकसान पहुंचा है। उन्होंने बताया कि सड़कों को खोलने का कार्य प्रगति पर है। वहीं, जिला मुख्यालय नाहन में मंगलवार को हुई बारिश के चलते कच्चा टैंक क्षेत्र में एक डंगा निर्माणाधीन मकान पर गिर गया। इससे बलवीर सिंह को आठ लाख रुपये की क्षति पहुंची है। डंगा ढहने से बलवीर के निर्माणाधीन मकान के लेंटर को क्षति पहुंची है।

वहीं, साथ लगते नरेंद्र के घर के समीप बाथरूम में भी दरारें आई गई हैं। प्रभावित परिवार ने इसकी सूचना प्रशासन व आपदा प्रबंधन को दी है। उपमंडल पांवटा साहिब के भजौन पंचायत के गाभर गांव में बिजली के खंभे में करंट आने से एक मवेशी की मौत हो गई। साथ ही करंट पूरे गांव में फैलने से ग्रामीण दहशत में हैं। सूचना मिलते ही विद्युत बोर्ड की टीम मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गई है।

भजौन पंचायत के प्रधान गुलाब सिंह चौधरी, दलीप पुंडीर, राजेंद्र पुंडीर, इंद्र सिंह, रतन सिंह आदि ने बताया कि गांव में विद्युत बोर्ड ने बिजली की नई लाइन जोड़ी है, लेकिन कुछ तारें सही तरीके से नहीं जोड़ी गई जिस कारण ग्रामीणों के घर की सर्विस तार शॉर्ट हो गई है। इससे पूरे गांव में करंट फैल गया है। सुरेश कुमार के एक मवेशी की करंट के चपेट में आने से दर्दनाक मौत हो गई। उधर, विद्युत बोर्ड के अधिशासी अभियंता अजय चौधरी ने बताया कि इस बारे में सूचना मिली है, जिसके बाद तुरंत कनिष्ठ अभियंता को मौके पर भेजा गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।