न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता तिथि को ही माना जाएगा बैचवाइज भर्ती में आधार … #news4
October 29th, 2020 | Post by :- | 278 Views

हिमाचल में भाषा अध्यापक पदों पर भर्ती के लिए अब न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता तिथि को ही बैचवाइज भर्ती के लिए आधार माना जाएगा। भाषा अध्यापक पदों पर भर्ती को सिर्फ व्यावसायिक योग्यता को आधार मानना न्यायसंगत नहीं। यह बात प्रदेश शिक्षा निदेशालय ने शिक्षा सचिव की ओर से मांगे गए स्पष्टीकरण में कही है। निदेशालय ने शिक्षा सचिवालय को पत्र लिखकर भाषा अध्यापक पदों पर होने वाली भर्तियों के लिए भर्ती एवं पदोन्नति नियमों में उचित प्रावधान करने की मांग उठाई है। बीएससी, बीकॉम और हिंदी वैकल्पिक विषय के बगैर ही स्नातक करने वाले अधिकतर विद्यार्थी बीएड कर लेते हैं। बीएससी या बीकॉम बीएड की डिग्री के बाद जब इन संकाय में बैचवाइज भर्ती में समय पर रोजगार नहीं मिलता है तो कई विद्यार्थी बाद में हिंदी में स्नातकोत्तर की डिग्री कर लेते हैं।
इस तरह बीएड की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाली तारीख से ही भाषा अध्यापक पदों पर होने वाले बैचवाइज भर्ती में नौकरियां हासिल कर लेते हैं। हमीरपुर जिला प्रारंभिक शिक्षा विभाग में करीब एक दर्जन भाषा अध्यापक पदों पर बीएससी बीएड के बाद एमए हिंदी करने वाले अभ्यर्थियों को पिछली तारीख से बैचवाइज भर्ती में एलटी के पद पर नियुक्तियां दी गईं। बाद में इन अयोग्य अध्यापकों को विभाग ने नियमित भी कर दिया। नियमितीकरण प्रक्रिया के दौरान स्क्रीनिंग कमेटी ने आपत्तियां दर्ज करवाई थीं। अमर उजाला ने 9 सितंबर 2020 के अंक में यह मुद्दा प्रमुखता से प्रकाशित किया था। खबर छपने के बाद शिक्षा सचिव ने शिक्षा निदेशक से रिपोर्ट मांगी थी। इसके बाद अब शिक्षा निदेशालय ने इस हेराफेरी पर अंकुश लगाने के लिए शिक्षा सचिवालय को स्पष्टीकरण के साथ भर्ती एवं पदोन्नति नियमों में विशेष प्रावधान करने को पत्र लिखा है। अब शिक्षा सचिवालय ही भाषा अध्यापकों के पदों पर होने वाली भर्तियों पर आगामी निर्णय लेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।