सायर पर्व से पहले अखरोट से अटे बाजार #news4
September 11th, 2021 | Post by :- | 94 Views

मंडी : सायर पर्व को हालांकि अभी पांच दिन शेष है, लेकिन बाजार में अखरोट पहुंच चुका है। ऐतिहासिक सेरी मंच पर नगर निगम की ओर से अखरोट बेचने वाले व्यापारियों के लिए स्थान उपलब्ध करवाया गया है। यहां पर अखरोट ढाई सौ से लेकर सात सौ रुपये प्रति सौ बिक रहे हैं। पिछले साल के मुकाबले में अबकी बार अखरोट के दाम में करीब सौ रुपये का इजाफा हुआ है।

सायर का पर्व इस बार 16 सितंबर को मनाया जा रहा है। उपायुक्त मंडी अरिदम चौधरी ने इस दिन अवकाश घोषित कर रखा है। इस दिन घर-घर में पकवान बनाकर अपने सगे संबंधियों में वितरित किए जाते हैं। सायर पर्व पशुधन व किसानों की खुशहाली का त्योहार है। सायर पूजा के समय वर्तमान मौसम के सभी अनाज व फसलों के पौधे, बेल व फल आदि को मिलाकर सायर बनाई जाती है। इसमें धान, मक्की, पेठा, गलगल, तिल व कोठा आदि शामिल होता है। इन सबके अलावा पूजा के लिए पांच से सात अखरोट भी रखे जाते हैं। वहीं पर बड़े बुजुर्गो का आशीर्वाद लेने के लिए भी अखरोट दूर्वा के साथ उनके हाथों में देकर उनके चरण स्पर्श किए जाते है। इसके पश्चात बड़े बुजुर्ग दूर्वा की कुछ डालियां अपने कान से लगाकर अखरोट लौटा देते हैं। मंडयाली में इस परंपरा को द्रूवा देना कहा जाता है। यह बड़े बुजुर्गो का आशीर्वाद लेने की अनिवार्य परंपरा है। बाजार में सबसे अधिक महंगा कागजी अखरोट बिक रहा है। इसकी कीमत सात सौ रुपये प्रति सौ रुपये है। इसके बाद बादामी अखरोट तथा भुर्ज अखरोट का नाम है। गोहर के व्यापारी प्रकाश शर्मा, बालीचौकी के इंद्र आदि ने बताया कि अभी अखरोट खरीदने के लिए तेजी नहीं आई है, लेकिन उम्मीद है कि आने वाले दो दिनों में लोग अखरोट खरीदने के लिए उमडेंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।