पूर्व सैनिकों के लिए बलिदान देना पड़ा तो सबसे आगे रहेंगे : राणा
November 28th, 2020 | Post by :- | 148 Views

शनिवार को भारतीय सेना के जवानों के पैंशन घटाने पर अब तक स्थिति स्पष्ट न होने से आक्रोशित पूर्व सैनिकों ने सुजानपुर ब्लॉक कांग्रेस के बैनर तले विरोध-प्रदर्शन किया, जिसमें विधायक राजेंद्र राणा विशेष रूप से उपस्थित रहे। विरोध प्रदर्शन में कोरोना काल में अपनाई जा रही डब्ल्युएचओ की विशेष हिदायतों पर अमल करते हुए सामाजिक दूरी व मास्क आदि का विशेष ध्यान रखा गया। सुबह ही पूर्व सैनिक व कांग्रेस पदाधिकारी पोड़ियां मोहल्ला वार्ड नंबर 1 मंदिर के पास एकत्रित हो गए थे तथा वहां से सुजानपुर बाजार से रैली निकालते हुए व पैंशन घटाने के किसी भी निर्णय के विरोध में जोरदार नारेबाजी करते हुए चिल्ड्रन पार्क में पहुंचे।

इस अवसर पर आयोजित बैठक में पूर्व सैनिकों ने हुंकार भरते हुए निर्णय लिया कि अगर पैंशन घटाने संबंधी बिल को केंद्र सरकार लेकर आई तो पूरे देश में पूर्व सैनिक जन आन्दोलन छेड़ते इसके विरोध में उतर जाएंगे। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा ने संबोधित करते हुए कहा कि पैंशन कटौती मुद्दे की लड़ाई अकेले सैनिकों या उनके परिजनों की नहीं है। इस मुश्किल घड़ी में देश का हरेक नागरिक उनके साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि सुजानपुर सैनिक बाहुल्य क्षेत्र है तथा यहां से लगभग हर परिवार से सेना में जवान है, लेकिन केंद्र सरकार द्वारा सैनिकों की पैंशन कटौती पर विचार किया जा रहा है। केंद्र की इसी संकीर्ण  सोच के खिलाफ सुजानपुर से विरोध प्रदर्शन का श्रीगणेश किया गया है। अगर सरकार ने पैंशन में कटौती संबंधी विधेयक पारित किया तो अभी सरकार की कृषि संबंधी कानून के खिलाफ किसानों ने राष्ट्र व्यापी आंदोलन छेड़ा है और जल्द ही पूरे हिमाचल के साथ देशव्यापी आंदोलन पूर्व सैनिक शुरू करेंगे, जिसमें वे स्वयं आगे चलकर कदम से कदम मिलाएंगे।

सैनिक हमारी सुरक्षा के लिए सीमा पर डटे रहते हैं, बलिदान देते हैं और परिवार से भी दूर रहते हैं। ऐसे में अब हमारी बारी है कि जवानों व उनके परिवार के भविष्य को लेकर इस विचारणीय ड्राफ्ट का विरोध करें। अगर पूर्व सैनिकों की इस लड़ाई में उन्हें बलिदान भी देना पड़ा तो वे उसके लिए भी हर समय तैयार हैं। उन्होंने चिंता जाहिर की है कि जय जवान-जय किसान के भारत देश में केंद्र सरकार की ग़लत नीतियों से दोनों वर्गों को खतरा पैदा हो गया है तथा हर व्यक्ति खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। किसान हमारे अन्नदाता हैं और जवान हमारी दिन-रात हिफाजत करते हैं। इस अहम वर्गों के साथ इस तरह का व्यवहार कतई सहन नहीं किया जाएगा, क्योंकि इन्हीं के कारण देश की नींव मजबूत है।

अगर नींव खतरे में हो तथा असुरक्षा के माहौल में हो तो ऐसी विकट परिस्थिति में पूरा देश खतरे में पड़ सकता है। उन्होंने केंद्र सरकार को ऐसे विरोधाभासी निर्णय न लेने की सलाह देते आरोप लगाया कि वर्तमान सरकार देश को कमजोर व खोखला करने पर तुली है। कोई भी नीति स्पष्ट नहीं है। देश में अराजकता का माहौल बनाया जा रहा है। पहले देश की सरकारी संपत्ति को बेचने का काम किया और अब संवैधानिक संस्थाओं पर हमला करने साथ अहम वर्गों को कुचलने का सुनियोजित षड्यंत्र रचा जा रहा है। इस बैठक में हिमाचल प्रदेश कांग्रेस सोशल मीडिया के चेयरमैन अभिषेक राणा, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष कैप्टन ज्योति प्रकाश, पूर्व सैनिक विभाग के संयोजक सूबेदार मदन लाल सहित बड़ी संख्या में पूर्व सैनिक उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।