निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न करवाने में अपनी अहम भूमिका निभाएं अधिकारी- उपायुक्त #news4
January 14th, 2021 | Post by :- | 163 Views

उपायुक्त ने वर्चुअल माध्यम से जिला के एसडीएम और खंड विकास अधिकारियों के साथ की बैठक

पथ परिवहन निगम 15 जनवरी को उपलब्ध करेगा 79 बसें

चंबा, 14 जनवरी- उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) डीसी राणा ने कहा कि पंचायती राज चुनाव की प्रक्रिया को पूर्ण रूप से निष्पक्ष और शांतिपूर्ण संपन्न करवाने में अधिकारी अपनी अहम भूमिका का निर्वहन करें। उपायुक्त ने यह बात आज वर्चुअल माध्यम से जिला के एसडीएम और खंड विकास अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करते हुए कही। उन्होंने यह भी कहा कि 15 जनवरी को मतदान कर्मियों की मूवमेंट को इस तरीके से सुनिश्चित बनाएं कि सभी पार्टियां अपने गंतव्य तक निर्धारित तिथि और समय के मुताबिक पहुंच जाएं। उपायुक्त ने यह निर्देश भी दिए कि आदर्श आचार संहिता की अनुपालना को भी सुनिश्चित बनाया जाए।
उन्होंने कहा कि विकास खंड और उपमंडल मुख्यालय पर स्थापित किए गए सभी नियंत्रण कक्ष प्रभावी तरीके से कार्यशील रखे जाएं ताकि चुनाव प्रक्रिया से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियां जिला मुख्यालय को निरंतर संप्रेषित होती रहें।
उपायुक्त ने मतदान केंद्रों पर उपलब्ध रहने वाली सभी आवश्यक बुनियादी सुविधाओं, मतगणना केंद्रों की स्थापना और मतगणना से जुड़ी अन्य व्यवस्था के अलावा मतदान कर्मियों की मूवमेंट के शेड्यूल को लेकर भी जानकारी हासिल की और आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए। उपायुक्त ने बताया कि पथ परिवहन निगम 15 जनवरी को 79 बसें उपलब्ध करेगा। इनमें चंबा विकासखंड के लिए 15, मैहला के लिए 16, भरमौर के लिए 9, भटियात के लिए 15, तीसा के लिए 9 जबकि सलूणी के लिए 15 बसें संचालित की जाएंगी।
उपायुक्त ने मतदान और मतगणना में कोविड-19 को लेकर बरती जाने वाली एहतियातों की अनुपालना के लिए भी कहा।
वर्चुअल समीक्षा बैठक में उपायुक्त कार्यालय परिसर में स्थित राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र(एनआईसी) के वीडियो कांफ्रेंस कक्ष से अतिरिक्त उपायुक्त मुकेश रेपसवाल, जिला पंचायत अधिकारी महेश चंद ठाकुर और अन्य अधिकारियों ने भी भाग लिया।
———

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।