बिलासपुर में खनन के मामले को लेकर मंत्री के सामने उलझ पड़े लोग, देखिए वीडियो #news4
September 12th, 2021 | Post by :- | 321 Views

बिलासपुर : छह महीनों के बाद एक बार फिर शुरू किए गए जनमंच कार्यक्रम में लोगों के बीच काफी गहमागहमी देखने को मिली। बिलासपुर जिला के नयनादेवी क्षेत्र में जनमंच का कार्यक्रम जुखाला स्कूल में रविवार को आयोजित किया गया। इस जनमंच की अध्यक्षता प्रदेश के उर्जा मंत्री सुखराम चौधरी कर रहे थे। जनमंच में सब ठीक चल रहा था लेकिन जैसे ही बिलासपुर के साथ लगती अली खड्ड पर हो रहे अवैध खनन की शिकायत एक स्थानीय व्यक्ति ने की तो वहां आसपास खड़े लोग गुस्सा गए। कुछ लोगों ने कहा कि अगर वह घर के काम के लिए खड्ड से पत्थर नहीं लेंगे तो कहां से लेंगे। इस बात को लेकर दो गुटों में मंत्री के सामने की तनातनी हो गई।

मंच पर डीसी बिलासपुर पंकज राय, विधायक राम लाल ठाकुर सहित प्रदेश आपदा प्रबंधन बोर्ड के उपाध्यक्ष रणधीर शर्मा सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे, लेकिन लोगों ने उनकी परवाह किए बिना एक दूसरे से भिड़ना शुरू कर दिया। बढ़ते तनाव को देखते हुए मंत्री सहित प्रशासन की सिक्याेरिटी ने मोर्चा संभाला और दोनों गुटों को दूर दूर किया और स्थिति को नियंत्रित कर जनमंच के कार्यक्रम को आगे बढ़ाया गया। लोगों की इस बहस को रोकने के लिए डीसी बिलासपुर पंकज राय स्वयं मंच से उतरकर लोगों के बीच पहुंचे और मामले को शांत किया गया।

गौर हो कि सरकार का बहुचर्चित जनमंच कार्यक्रम कोरोना महामारी के चलते छह माह से बंद पड़ा था। इस रविवार को ही प्रदेशभर में एक बार फिर जनमंच कार्यक्रमों को शुरू किया गया है। इस जनमंच में उर्जा मंत्री सुखराम चौधरी के सामने अनेकों लोगों ने अपनी समस्याओं को रखा और कई लोगों ने मौके पर ही समाधान भी पाया है। मंत्री सुखराम ने कहा कि इस मामले पर उनका ध्यान है और प्रशासन को जल्द ही इस मामले में निशानदेही के आदेश दिए हैं। अगर व्यक्ति की अपनी मलकीयत होगी तो वह उस सामान को इस्तेमाल कर सकता है, लेकिन अगर ऐसा नहीं हुआ तो मामले की छानबीन कर कार्रवाई अम्ल में लाई जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।