अब घर-घर तलाशे जाएंगे कोविड मरीज, संक्रमण से डरे हिमाचल में 25 नवंबर से शुरू होगा हिम सुरक्षा प्रोग्राम ..
November 21st, 2020 | Post by :- | 325 Views

हिमाचल में कोरोना महामारी का बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जयराम सरकार ने 25 नवंबर से हिम सुरक्षा प्रोग्राम शुरू करने का निर्णय लिया है, घर-घर जाकर कोविड मरीजों की पहचान की जाएगी। राज्य भर में यह प्रोग्राम चलाया जाएगा, जिसकीतैयारियां भी पूरी कर ली गई हंै और टीमें गठित कर दी गई हैं। 27 दिसंबर तक यह प्रोग्राम चलेगा।

गौरतलब है कि प्रदेश में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। इस महीने अभी तक 160 मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि 18 दिनों में 9000 से ज्यादा कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। शिमला, मंडी, कुल्लू में सबसे ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। लगातार बढ़ रहे संक्रमण को लेकर सरकार भी चिंतित हो गई है। लोग भी टेस्ट करवाने में कम रुचि दिखा रहे हैं, जिससे मौतें भी बढ़ रही हैं। विवाह व अन्य समारोहों ने दिक्कतों में और इजाफा कर दिया है। ऐसे में अब सरकार ने एक बार दोबारा राज्य में घर-घर जाकर कोविड मरीजों को ढूंढने का प्लान तैयार किया है।
इस प्रोग्राम को हिम सुरक्षा का नाम दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी तैयारियां पूरी कर ली हैं। घर-घर जाकर मरीजों को तलाश करने के लिए टीम गठित की गई है, इसमें आशा वर्कर, आयुर्वेद विभाग के फार्मासिस्ट और आंगनबाड़ी वर्कर को शामिल किया गया है। ये घर-घर जाकर परिवार के सदस्यों से पूछताछ करेंगे। किसी मेें कोविड के लक्षण मिलते हैं, तो उनके सैंपल लिए जाएंगे और अस्पताल जांच के लिए भेजे जाएंगे। तब तक वह शख्स बाहर नहीं जा पाएगा, जब तक उसकी रिपोर्ट नहीं आ जाती है। पॉजिटिव आने पर जरूरत के अनुसार मरीज को अस्पताल शिफ्ट किया जाएगा।
इसके अलावा उसे घर पर ही आइसोलेट किया जाएगा। वहीं लोगों को भी घर-घर जाकर कोविड महामारी को लेकर जागरूक किया जाएगा। लक्षणों के बारे में बताया जाएगा। एक महीने तक यह प्रोग्राम राज्य भर में चलेगा और कोविड संक्रमित मरीजों की तलाश की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।