हिमाचल बिजली बोर्ड तकनीकी कर्मचारी संघ के सदस्‍य उतरे सड़कों पर, शिमला में किया प्रदर्शन #news4
July 19th, 2021 | Post by :- | 142 Views

शिमला : केंद्र सरकार की ओर से बिजली संशोधन विधेयक-2021 के विरोध में हिमाचल प्रदेश राज्य बिजली बोर्ड कर्मचारी यूनियन सड़क पर उतरी। कर्मचारी बोर्ड मुख्यालय कुमार हाउस में प्रदर्शन किया। यूनियन के राज्य अध्यक्ष कुलदीप सिंह खरवाड़ा ने कहा कि केंद्र सरकार आपदा को अवसर में बदल कर बिजली निजीकरण के प्रस्तावित बिजली संशोधन विधेयक को संसद के मानसून सत्र में पारित करवाने की तैयारी में है। उन्होंने कहा कि बिजली कर्मचारियों व अभियंताओं की राष्ट्रीय समन्वय समिति ने इस विधेयक को राष्ट्रविरोधी, उपभोक्ता, किसान व कर्मचारी विरोधी बताते हुए इसका राष्ट्रीय स्तर पर विरोध कर रही है।

विद्युत तकनीकी कर्मचारी महासंघ के कार्यकारिणी अध्यक्ष लक्ष्मण गुप्ता व संगठन सचिव कृष्ण कुमार ने कहा फील्ड में एक-एक कर्मचारी पांच-पांच ट्रांसफार्मर की देखभाल कर रहे हैं। काम के बोझ तले दबे फील्ड कर्मचारी मौत का ग्रास बन रहे हैं। आरोप लगाया कि बोर्ड से लगातार वार्ता होने के बावजूद मांगों की अनदेखी हुई हैं। अगर बोर्ड प्रबंधक वर्ग अब भी नहीं मानता है तो पूरे प्रदेश में वाक आउट किया जाएगा। कोरोनाकाल में फील्ड कर्मचारियों ने रात दिन अपनी जिम्मेदारी निभाई। इसके बावजूद बोर्ड प्रबंधक वर्ग ने अपना रवैया नहीं बदला।

25 से हिमाचल में होंगे प्रदर्शन

हिमाचल किसान सभा किसान आंदोलन के समर्थन में उतर आई है। किसानों और मजदूरों के 25 जुलाई से नौ अगस्त तक होने वाले राष्ट्रव्यापी आंदोलन को सफल बनाने के लिए हिमाचल किसान सभा समर्थन देगी। इस दौरान प्रदेशभर में धरने प्रदर्शन होंगे। सीटू के प्रदेश नेतृत्व की संयुक्त बैठक डा. ओंकार शाद की अध्यक्षता में शिमला में हुई। बैठक में डा. कश्मीर ठाकुर, डा. कुलदीप तंवर, विजेंद्र मेहरा, प्रेम गौतम, जगत राम व सत्यवान पुंडीर शामिल रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।