मेडिकल कॉलेज ओपीडी में नहीं मान रहे शारीरिक दूरी का नियम …
November 23rd, 2020 | Post by :- | 219 Views

चंबा : मेडिकल कॉलेज चंबा में बीमारी का उपचार करवाने के लिए आ रहे लोग शारीरिक दूरी का पालन नहीं कर रहे हैं। खासकर कॉलेज की ओपीडी (बाह्य रोगी विभाग) में लोग एक-दूसरे के संपर्क में आ रहे हैं। यहां सख्ती में ढील देने के बाद सोमवार को हालात फिर बिगड़ गए।

यहां लोग जल्दबाजी के चक्कर में शारीरिक दूरी के नियम का पालन करना भूल रहे हैं। मेडिकल कॉलेज की धरातल मंजिल में ओपीडी के बाहर सुबह करीब दो घंटे भीड़ लगी रही। मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने सूचना मिलने पर लोगों से शारीरिक दूरी का पालन करवाया। सुबह 10 बजे लोग एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड, ब्लड टेस्ट समेत अन्य टेस्ट की फीस जमा करवाने के बाद उपचार के लिए एक साथ पहुंच गए। सुरक्षा कर्मियों को भी व्यवस्था सही करने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। भारी भीड़ अब बेकाबू हो रही है। सोमवार को फीस काउंटर के पास भीड़ होने से कोरोना संक्रमण को न्योता दिया गया। हालांकि रविवार से प्रशासन ने शारीरिक दूरी बनाने के लिए पुलिस कर्मियों समेत सुरक्षा कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई थी। इसके बावजूद लोगों की भीड़ के आगे सारी व्यवस्था ढीली नजर आई। लोगों की लंबी लाइन कैंटीन तक पहुंच गई। चंबा में लोग चालान से बचने के लिए मास्क पहन रहे हैं, लेकिन शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे हैं। इससे कोरोना संक्रमण और फैलने का खतरा बना हुआ है। चंबा में अब तक कोरोना संक्रमण के 1700 से अधिक मामले सामने आए हैं। अधिकतर मामलों में कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। इससे जाहिर है कि चंबा में ही लोग एक-दूसरे के संपर्क में आने से ही संक्रमित हुए हैं।

उधर, स्वास्थ्य विभाग लोगों को लगातार कोरोना संक्रमण से बचने के लिए शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने का निर्देश दे रहा है, मगर इसका असर काफी कम दिख रहा है। चंबा में कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग कड़े प्रयास कर रहा हो लेकिन धरातल पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

———–

मेडिकल कॉलेज चंबा में शारीरिक दूरी के नियम का पालन करवाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। शारीरिक दूरी का पालन न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। ओपीडी के बाहर सुरक्षा कर्मी की तैनाती की गई है।

-मोहन सिंह, चिकित्सा अधीक्षक, मेडिकल कॉलेज चंबा

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।