कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए हिम सुरक्षा योजना के तहत पांच विभागों की आठ हजार टीमें गठित, जानिए …
November 22nd, 2020 | Post by :- | 151 Views

कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए हिम सुरक्षा योजना के तहत पांच विभागों की आठ हजार टीमों का गठन कर दिया है। यह अभियान स्वास्थ्य विभाग, आयुष, महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायती राज विभाग, जिला प्रशासन और गैर सरकारी संस्थानों के सामूहिक सहयोग से चलाया जाएगा। आठ हजार टीमों में दो-दो सदस्य होंगे। यह सोलह हजार सदस्य तपेदिक, कुष्ठ रोग, शुगर एवं उच्च रक्तचाप के लक्षणों की घर-घर जाकर जानकारी एकत्रित करेंगे। 25 नवंबर से 27 दिसंबर तक प्रदेश भर में हिम सुरक्षा अभियान को चलाया जा रहा है।

हिम सुरक्षा अभियान की शुरुआत मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर 24 नवंबर को शिमला के रिज मैदान से शुरुआत करेंगे। उसी दिन सभी को यह भी शपथ दिलाई जाएगी कि सभी लोग कावेडि-19 के लिए जारी सभी दिशा-निदेशों का पालन करेंगे। जैसे मास्क का सही प्रकार से उपयोग, भीड़ भाड़ वाली जगह पर न जाएं, पारस्परिक कम से कम दो गज की दूरी जरूर और बार-बार हाथों को साबुन और पानी से धोएं। हिम सुरक्षा योजना के तहत कोविड-19, तपेदिक, कुष्ठ रोग, शुगर एवं उच्च रक्तचाप रोगों के विभिन्न लक्षणों की जानकारी एक मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से एकत्रित की जाएगी। यदि किसी को दो सप्‍ताह से ज्यादा खांसी, बुखार, बलगम में खून आना, वजन का कम होना एवं छाती में दर्द होने इत्यादि लक्षण हों तो, बलगम की जांच के लिए सैंपल अवश्य दें।

सचिव स्वास्थ्य विभाग अमिताभ अवस्थी का कहना है यदि किसी को भी कोविड-19 के कोई भी लक्षण जैसे कि नजला, जुकाम, खांसी, बुखार, स्वाद या सूंघने की शक्ति में बदलाव, सांस लेने में तकलीफ इत्यादि हो तो वह अपनी जानकारी घर द्वार पर आ रहे स्वास्थ्य कार्यकर्ता को अवश्य दें। यदि किसी को शुगर, ब्लड प्रेशर, दमे, कैंसर इत्यादि की बीमारी है, तो वह लोग भी अपनी जानकारी अवश्य दें, ताकि ऐसे सभी लोगों की विशेष रूप से निगरानी की जा सके।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।