देसी खाद का प्रयोग कर बढ़ाएं पैदावार #news4
September 13th, 2021 | Post by :- | 290 Views

जाहू : नाहलवी पंचायत के लुंड़री गांव में सोमवार को कृषि विभाग ने आत्मा परियोजना के तहत कृषि जागरूकता शिविर का आयोजन किया। भोरंज ब्लाक कृषि विभाग ब्लाक ट्रेनिग मास्टर अंकिता ने किसानों को कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंधन अभिकरण(आत्मा)परियोजना के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि परियोजना का मुख्य उद्देश्य किसानों और कृषि विज्ञानिकों के बीच संवाद करके कृषि उत्पादकता को बढ़ावा देना है।

उन्होंने कहा कि कम लागत से अच्छी पैदावार की ओर बढ़ावा दिया जा रहा है। किसानों के खेत छोटे-छोटे व बिखरे होने के कारण किसानों को अच्छी पैदावार की लाभ नहीं मिल पाता है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण अविज्ञानिक तरीके से खेतीबाड़ी करना है। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग किसानों को वैज्ञानिक तरीके के खेतीबाड़ी करने के लिए प्रशिक्षित कर रहा है। ताकि किसानों की आय दो गुना हो सके।

मेहर चंद पटियाल ने कहा कि किसान गोबर से बनी खाद का प्रयोग कम करने रसायनिक खादों को अधिक प्रयोग कर रहा है। इससे जहां कृषि की पैदावार कम हो रही है, वहीं अनेक बीमारियां लग रही हैं। देसी गाय के गोबर व गोमूत्र से बनी देसी खाद कृषि के लिए सबसे उपयुक्त है। इससे जहां कृषि की पैदावार बढ़ेगी वहीं पौष्टिक तत्वों से युक्ल अनाज और सब्जियों पैदा होगी। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि खेतीबाड़ी को अधिक से अधिक बढ़ावा दें तथा देसी खाद का हर वर्ष प्रयोग करें।

इस अवसर पर किसान कृष्ण कुमार, पुरुषोत्तम सिंह, मीना कुमारी, सलोचना देवी, बीना देवी, रीना कुमारी, डोलू, रेखा देवी, राजकुमारी, रजनी देवी, सरीता देवी, किरणा कुमारी, फतेह सिंह, कुलदीप सिंह, प्रीतम चंद, जगत सिंह, नीलम कुमारी, कुलदीप चंद, मीना देवी, प्रतीभा देवी, विजय कुमार, बीना कुमारी, मुकत्यार चंद, अनू देवी, रंजना देवी, विचित्र सिंह, रामू देवी व अन्य उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।