सिख संगत के लिए खुशखबरी:551वां प्रकाश पर्व: 27 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर खोलने पर संशय बरकरार; एक जत्था जाएगा पाकिस्तान …
November 21st, 2020 | Post by :- | 105 Views

कोरोना महामारी फैलने के चलते 8 महीने से बंद पड़ा करतारपुर कॉरिडोर को 27 नवंबर को खोले जाने की चर्चाएं जोरों पर थीं। शनिवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय सांपला के एक ट्वीट से इस चर्चा को बल मिला था, लेकिन कुछ देर बार सांपला ने एक और ट्वीट करके स्पष्टीकरण दिया, जिसके बाद 27 नवंबर को कॉरिडोर के खुलने पर संशय बरकार हो गया।

विजय सांपला ने पहले ट्वीट करके बताया था कि भारत सरकार ने 27 नवंबर को कॉरिडोर खोलने का फैसला लिया है। इस संदर्भ में भारत सरकार जल्दी ही SOP जारी करेगी, जिसका सख्ती से पालन करना होगा।लेकिन दूसरे ट्वीट ने उन्होंने बताया कि 27 तारीख को सिखों का एक जत्था पाकिस्तान जाएगा और कॉरिडोर खोलने पर अंतिम फैसला सरकार करेगी।

16 मार्च से बंद है कॉरिडोर

कोरोना महामारी के कारण 16 मार्च से कॉरिडोर बंद है। इसलिए संगत उस पार गुरुघर के दर्शन को नहीं जा पाईं। इससे पहले 4 महीने में 62,939 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने दर्शन किए थे। आखिरी जत्थे में 7641 श्रद्धालु 1 से 15 मार्च तक दर्शन कर लौटे थे। फिर कोरोना ने इनकी राह रोक दी।

बता दें कि पिछले साल गुरुपर्व पर श्रद्धालुओं के लिए करतारपुर कॉरिडोर बिना फीस और पासपोर्ट के खोल दिया था। 9 नवंबर 2019 को भारत की तरफ से कॉरिडोर का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इसके बाद पाकिस्तान की ओर से पीएम इमरान खान ने किया था।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।