आपके लिए घातक हो सकता इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स का अधिक इस्तेमाल #news4
June 7th, 2021 | Post by :- | 156 Views

आज इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स हमारे जीवन के लिए अत्यंत आवश्यक हो गई है। आप हम हर कार्य के लिए इन गैजेट्स के मोहताज़ होते जा रहे हैं। ये गैजेट्स हमारे जीवन को आसान बना रहे है लेकिन इनका अत्यधिक उपयोग हमें हानि भी पंहुचा सकता है। हर चीज़ के दो पहलू होते है – एक अच्छा और एक बुरा। अगर हम दोनों को बैलेंस करके चलें तो जीवन आसान हो सकता है। लेकिन अगर हम इसका जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करें तो यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक सिद्ध हो सकते है। आइये जानते है ये गैजेट्स आपको नुकसान कैसे पहुंचा सकते है –

कंप्यूट से नुकसान – कंप्यूटर का अधिक प्रयोग हमारे शरीर को नुक्सान पंहुचा सकता है। पांच छह घंटे से ज्यादा कंप्यूटर करना एडिक्शन कहलाता है। कंप्यूटर से हमारे शरीर की सक्रियता कम हो जाती है, जीवन शैली में बदलाव आ जाता है। हम दोस्तों व समाज व परिवार से करने लगते है। नींद की कमी से हमारे स्वास्थ्य में प्रभाव पड़ने लगता है। कंप्यूटर का प्रभाव शरीर पर लैपटॉप से भी अधिक पड़ता है।

गैजेट्स के नुकसान 

मोटापा बढ़ाए – गैजेट्स से ज्यादा इस्तेमाल से लोगो की फिजिकल एक्टिविटीज बहुत कम हो जाती है। एक ही जगह घंटो तक बैठे रहने से उनमे मोटापे की समस्या उतपन्न हो जाती है।

अनिद्रा के शिकार – मोबाइल के अधिक प्रयोग से लोगो में अनिद्रा जैसी बीमारियां पैदा होने लगती है। रात को देर तक मोबाइल करते रहने की वजह से अनिद्रा के शिकार हो जाते है।

आँखों के लिए नुकसानदायक – अधिक देर तक वीडियो गेम खेलते रहने या देर तक मोबाइल पर नज़र टिकाए रखने से सबसे ज्यादा नुकसान हमारी आँखों को ही होता है। इससे हमारी आँखे ड्राई हो जाती है।

सुनने की समस्या – आज का युवा वर्ग घंटो तक कानो में एयर फ़ोन लगाए रखता है। इससे कानो को नुकसान पहुंचता है और उनके सुनने की क्षमता पर नेगेटिव इफ़ेक्ट पड़ता है ।

समाज से कट जाना – इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के सबसे ज्यादा नुकसान में सामाजिक अलगाव है। आप अपने गैजेट्स में इतने खो जाते है कि आपके आसपास क्या चल रहा है इसकी भी सुध बुध नहीं रहती। आप अपने आसपास के लोगो से बिलकुल कट जाते है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।