जब जेब में हो 1000 रुपए तभी करें ऐसा काम …
November 21st, 2020 | Post by :- | 83 Views

कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही जंग में लोगों का सहयोग न मिलते देख अब नियमों को और कड़ा करने का निर्णय लिया गया है। जिसके तहत मास्क न पहनने वालों और कोरोना वायरस को हल्के में लेने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने पर मुहर लगा दी गई है। अब मास्क न पहनने वाले लोगों को 1000 रुपये जुर्माना अदा करना होगा। इससे पहले मात्र 100 से 500 रुपए तक जुर्माना इंपोज किया जा रहा था। जबकि अधिकतर लोगों से मास्क ना पहनने की एवज में 100 रुपए ही वसूल किए जाते थे। लेकिन अब मास्क न पहनाने वालों की खैर नहीं है। ऊना पुलिस ने इस संबंध में कड़ी कार्रवाई करने का फैसला लिया है जिसके तहत अब नियमों का पालन ना करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए एक हजार रुपए जुर्माना वसूल किया जाएगा। इतना ही नहीं अब किसी भी धार्मिक या सामाजिक समारोह में कोविड नियमों का पालन न करने पर भी कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

केरोना वायरस को हल्के में लेना और नियमों की धज्जियां उड़ाना अब आपके लिए महंगा पड़ने वाला है। महामारी से बचाव के लिए अनिवार्य किए गए फेस मास्क को न पहनने वाले लोगों को अभी तक मात्र 100 से 500 रुपए जुर्माना अदा करना पड़ता था। ऐसे में कुछ लोग इसे बिल्कुल हल्के में ले रहे थे। जो मास्क ना पहनकर जुर्माना अदा करने को अपनी शान समझते थे। लेकिन अब ऐसे लोगों की जेबें और भी ढीली होने वाली है। डीएसपी हेड क्वार्टर रमाकांत ठाकुर ने बताया कि कुछ दिनों से जिला ऊना में कोरोना के मामलों में काफी बढ़ोतरी हुई है। जिस वजह से पुलिस प्रशासन द्वारा इस ओर सख्त कदम उठाने का निर्णय लिया गया है। पुलिस प्रशासन द्वारा मास्क न पहनने वालों से 1000 रुपये जुर्माना वसूल किया जायेगा।

पुलिस द्वारा मास्क न पहनने वालों से पुलिस एक्ट की धारा 111 व 115 के तहत जुर्माना वसूल किया जाता है। जिला पुलिस प्रशासन ऊना द्वारा मास्क न पहनने वालों पर सख्ती करने का निर्णय लिया गया है, ताकि इस बीमारी के प्रभाव को कम किया जा सके। वहीं सामाजिक और धार्मिक समारोहों में नियमों की पालना करने पर भी पुलिस ने सख्त कार्रवाई का दावा किया है। इस संबंध में पुलिस प्रशासन द्वारा आम जनता से मास्क पहनने बारे व कोविड-19 से संबधित आदेशों की अवहेलना करने वालों के वारे में कोविड हैल्पलाईन पर सूचना देने की अपील की गई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।