जिला ऊना के बैंकों ने दिसंबर, 2020 तक 849.43 करोड़ के ऋण वितरित किएः डीसी #news4
March 2nd, 2021 | Post by :- | 161 Views

राघव शर्मा ने जिला स्तरीय बैंक सलाहकार एवं समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की
ऊना, 2 मार्च: जिला स्तरीय बैंक सलाहकार एवं समीक्षा बैठक बचत भवन ऊना में राघव शर्मा उपायुक्त की अध्यक्षता में हुई। उपायुक्त ने बैंकों को निर्देश दिए की वह सभी लोगों को प्रधानमंत्री की सुरक्षा बीमा योजना, जीवन ज्योति बीमा योजना, फसल बीमा योजना, मुख्यमंत्री स्वाबलम्बन योजना और अटल पेंशन योजना के बारे जागरूक कर उन्हें इन योजनाओं में कवर करें। उन्होंने कहा कि बैंक गरीब और जरूरतमंद लोगों को ऋण देने को प्राथमिकता दें। उन्होंने लीड बैंक को कृषि, उद्यान, पशु पालन व ग्रामीण विकास अभिकरण विभागों से समन्वय स्थापति कर हर ब्लॉक में लोगों को सरकार की स्कीमों का लाभ उठाने के प्रति जागरुकता शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए। उपायुक्त ने बैंकों से अनुरोध किया कि जिला की जनता के जीवन स्तर को सुधारने हेतु हर तरह की सहायता की जाए। उन्होंने बताया कि बैंकों को किसानों की आय बढ़ाने हेतु आवश्यक ऋण वितरित करने चाहिए।
डीसी ने कहा कि तीसरी तिमाही में बैंकों ने दिसम्बर, 2020 तक 849.43 करोड़ के ऋण वितरित किए। उन्होंने बताया कि बैंकों की जमा राशि 10210.40 करोड़ हो गई है, इसमें 12.08 प्रतिशत वार्षिक दर से वृद्धि हुई है, जबकि ऋण 8.90 प्रतिशत की दर से बढ़ कर 3130.46 करोड़ हो गया है। जिला में बैंकों ने 31दिसंबर, 2020 तक किसानों को 56,524 कृषि कार्ड बांटे हैं तथा दिसंबर तिमाही में बैंकों ने 852 कृषि कार्ड किसानों को बांटे हैं। बैंकों का कृषि ऋण 577.39 करोड़ हैं जो कि कुल ऋणों का 18.44 प्रतिशत है।
पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य प्रबन्धक मण्डल कार्यालय हमीरपुर विनीत अग्रवाल व आरसेटी निदेशक राज कुमार डोगरा ने बताया कि इंस्टीट्यूट द्वारा तीसरी तिमाही में 172 बेरोजगार युवकध्युवतियों को विभिन व्यवसाओं हेतु प्रशिक्षण दिया गया।
इस बैठक में अध्यक्ष जिला परिषद ऊना नीलम कुमारी, अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. अमित कुमार शर्मा, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र ऊना अंशुल धीमान, जिला विकास अधिकारी भारतीय रिजर्व बैंक भरत राज आनंद, जिला विकास प्रबन्धक नाबार्ड अरुण कुमार, सहायक निदेशक पशुपालन विभाग सुरेश धीमान सहित अन्य सरकारी व गैर सरकारी अधिकारियों ने भाग लिया।
-0-

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।