मरे हुए उल्लू प्रजाति के पक्षी के मिलने से मचा हड़कंप, किया दफन #news4
January 14th, 2021 | Post by :- | 158 Views

प्रदेश में बर्ड फ्लू की आशंका के चलते गोहर के सेगली में उल्लू प्रजाति के एक पक्षी के मृत पाए जाने का मामला सामने आया है। सूचना मिलते ही गोहर का प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंच गया और पक्षी की मौत के कारणों की छानबीन में जुट गया। मौजूद अधिकारी ने ग्रामीण तथा विभागीय कर्मचारियों को आदेश जारी किए कि बर्ड फ्लू के नजरिए के आधार पर आसपास देखा जाए कि कोई अन्य पक्षी भी कहीं मृत तो नहीं पड़ा है। छानबीन में अन्य पक्षी का मामला सामने न आने की सूरत में पशुपालन विभाग के अधिकारी ने मृतक पक्षी को करीब दो फीट गहरे गढ्ढे में दफन करने के आदेश जारी किए। ग्रामीणों को आदेश जारी किए गए कि ऐसी सूरत में मामले सामने आने पर विभाग को सूचित करें। ताकि नियमानुसार कार्यवाही अमल में लाई जा सके।

जानकारी के मुताबिक प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग उस वक्त अलर्ट हो गया। जब  जिला के गोहर उपमंडल  के सेगली पंचायत के तरौर (तड़ाई) गांव में वीरवार सुबह बुद्धि सिंह पुत्र श्याम लाल जैसे ही अपनी गौशाला की तरफ गया तो बुद्धि सिंह ने अपनी गौशाला के नजदीक एक उल्लू प्रजाति के पक्षी को मृत अवस्था में पाया। ग्रामीणों में यह खबर तेजी से फैलते ही बर्ड फ्लू की आशंका पर सनसनी फैल गई। ग्रामीणों ने प्रशासन को सूचना दी। सूचना मिलते ही वन, पशुपालन विभाग की टीम मौके पर पहुंचे ही छानबीन में जुट गई। उपमंडलीय पशु चिकित्सक डॉ. नंदलाल ने बताया कि मौके पर एक ही पक्षी मृत पाया गया है। छानबीन में मृतक पक्षी एक बच्चे के स्वरूप में देखा गया जो ठंड या किसी अन्य पक्षी के द्वारा हमले के कारण मारा गया हो सकता है। पक्षी को गहरी मिट्टी के बीच डिस्पोज कर दिया गया है। ग्रामीणों को हिदायत दे दी गई है कि अगर इस प्रकार से कोई एक साथ मृतक के तौर पर अन्य मामले सामने आते हैं। तो फिर सैंपलिंग प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी। एसडीएम गोहर अनिल भारद्वाज ने कहा कि सूचना मिलने पर पशुपालन विभाग व वन विभाग के अधिकारियों को मौका करने बारे आदेश जारी कर दिए गए हैं। रिपोर्ट मिलने पर आगामी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।