कृषि विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा-250 विद्यार्थी कोरोना पॉजिटिव आने का समाचार गलत #news4
April 13th, 2021 | Post by :- | 226 Views

पालमपुर : कृषि विश्वविद्यालय में एक साथ बड़ी संख्या में कोविड-19 के मामले आने के भ्रामक समाचार से हड़कंप मच गया। एक समाचार वैब पोर्टल पर एक साथ 250 विद्यार्थियों के कोरोना वायरस पॉजिटिव आने का समाचार वायरल हुआ, वहीं संस्थान को तत्काल प्रभाव से बंद किए जाने का दावा भी इसमें किया गया। समाचार के वायरल होते ही हड़कंप मच गया। विश्वविद्यालय के छात्रावासों में इन दिनों बड़ी संख्या में छात्र हैं, वहीं कई विदेशी छात्र भी विश्वविद्यालय में हैं। स्थिति की गंभीरता को भांपते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने तत्काल इस समाचार का खंडन किया और प्रैस कॉन्फ्रैंस कर सारी स्थिति स्पष्ट की।

कुलपति प्रो. हरींद्र कुमार चैधरी ने स्पष्ट किया कि वर्तमान में एक भी कोविड-19 पॉजिटिव मामला विश्वविद्यालय में नहीं है। ऐसे में भ्रामक समाचार से मचे हड़कंप को लेकर उन्होंने ऐसे समाचार को फेक बताया। विदित रहे कि 14 तथा 15 अप्रैल को राजपत्रित अवकाश होने के दृष्टिगत विश्वविद्यालय प्रशासन ने सावधानी बरतते हुए 13 अप्रैल को भी अवकाश की घोषणा कर दी थी।  विश्वविद्यालय द्वारा जनवरी माह में 1319 विद्यार्थियों तथा स्टाफ  के कोविड-19 टेस्ट करवाए गए थे जिनमें से मात्र 13 उस समय संक्रमित पाए गए थे।

प्रदेश सरकार के निर्णय के अनुसार विश्वविद्यालय में 21 अप्रैल तक शैक्षणिक गतिविधियां बंद हैं तथा विद्यार्थियों को ऑनलाइन अध्ययन करवाया जा रहा है। विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य केंद्र में इन दिनों वैक्सीनेशन करवाया जा रहा है। इसके अंतर्गत बड़ी संख्या में स्टाफ  तथा विद्यार्थियों का वैक्सीनेशन किया गया है। कुलपति ने कहा कि 250 विद्यार्थियों के कोरोना पॉजिटिव आने का समाचार भ्रामक है। यह समाचार बिना पुष्टि के प्रकाशित किया गया है। इस संबंध में वैब पोर्टल से स्पष्टीकरण मांगा गया है। विश्वविद्यालय में एक भी कोविड-19 पॉजिटिव केस नहीं है। विश्वविद्यालय में प्रदेश सरकार द्वारा समय≤ पर जारी दिशा-निर्देशों की कड़ाई से अनुपालना को सुनिश्चित किया जा रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।