बार्डर पर फिर सख्ती की तैयारी, कोरोना लक्षण वालों की नहीं हो सकेगी हिमाचल में एंट्री ..
November 22nd, 2020 | Post by :- | 206 Views

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार फिर से कठोर कदम उठाने की तैयारी में है। सीमाओं पर फिर से बंदिशें लगाई जाएंगी। जिन लोगों में कोरोना के लक्षण पाए जाएंगे, उन्हें हिमाचल में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा।  इसके लिए प्रदेश की सीमाओं पर पुलिस और स्वास्थ्य कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी। इस मामले को कैबिनेट की बैठक में लाया जा रहा है।
दरअसल,  सूबे में कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। सप्ताह के भीतर मौत का आंकड़ा 1.2 से बढ़कर 1.6 फीसदी हो गया है। एक्टिव मामलों में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही है। शिमला, मंडी और कुल्लू में कोरोना ने विकराल रूप धारण कर लिया है। इसका कारण लोगों की ओर से लापरवाही बरतना भी है। कई लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं। सरकार मास्क न पहनने पर जुर्माना राशि को भी 500 से 1500 करने की तैयारी में है। ऐसा  इसलिए, ताकि लोग अपनी जिम्मेवारी समझ सकें।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में राजनीतिक सभाओं सहित शादी-धाम समेत तमाम तरह के सामाजिक, अकादमिक, खेल संबंधी, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, राजनीतिक और अन्य तमाम तरह के इंडोर समारोहों में 100 से अधिक लोग इकट्ठा न होने, स्कूलों में छुट्टियां करने, शादी व अन्य समारोहों में कैटरिंग का काम करने वालों के भी कोरोना टेस्ट अनिर्वाय करने के बाद अब सरकार अन्य राज्यों के साथ लगते बार्डर पर सख्ती करने की तैयारी कर रही है। कैबिनेट बैठक में अगले छह माह का प्लान बताएगा शिक्षा विभाग
राज्य मंत्रिमंडल की 23 नवंबर को प्रस्तावित बैठक में शिक्षा विभाग के अधिकारी आगामी छह माह की योजनाओं को लेकर प्रस्तुति देंगे। शनिवार को दिनभर शिक्षा सचिव के कार्यालय में प्रेजेंटेशन तैयार करने के लिए अधिकारियों के साथ चर्चा जारी रही। कोरोना संकट के चलते स्कूल बंद रहने की स्थिति में कैसे विद्यार्थियों की पढ़ाई को जारी रखा जाएगा। इसकी जानकारी से भी कैबिनेट को अवगत करवाया जाएगा। इसके अलावा बीते छह माह के दौरान किए गए कार्यों से भी अवगत करवाया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।