डायलिसिस करवाने पहुंचा व्‍यक्‍ित निकला संक्रमित, यूनिट बंद कर स्‍टाफ क्‍वारंटाइन,150 लोगों से निकला संपर्क
August 4th, 2020 | Post by :- | 206 Views

सप्ताह भर पहले क्षेत्रीय अस्पताल के डायलिसिस सेंटर ऊना में उपचार करवा चुका व्यक्ति कोरोना पाजिटिव पाया गया है। इसके बाद डायलिसिस सेंटर को तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है। इस सेंटर के तकनीशियन, विशेषज्ञ व पूरे स्टाफ को होम क्वारंटाइन कर दिया गया है। उनकी कांटेक्‍ट हिस्ट्री को भी खंगाला जा रहा है। उधर अप्पर भटोली गांव के पॉजिटिव पाए गए लोगों के भी करीब डेढ़ सौ आगे संपर्क सामने आए हैं। इस पूरे मामले में स्वास्थ्य महकमा अलर्ट हो गया है और ट्रेसिंग हिस्ट्री बनाई जा रही है।

ऊना में डायलिसिस केंद्र में 29 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाया गया एक मरीज उपचार के लिए पहुंचा था। यह काफी समय तक इस सेंटर में रहा था और उसके बाद भी मंगलवार सुबह तक इस सेंटर की सेवाएं जारी थीं। इस अवधि के भीतर जितने लाेग भी इस सेंटर में पहुंचे हैं अथवा उस स्टाफ के संपर्क में आए हैं उनकी भी तलाश की जा रही है। अब ऊना अस्पताल के डायलिसिस यूनिट में अगले तीन दिन तक कोई गतिविधि नहीं होगी। पूरे यूनिट को सैनेटाइज किया गया है।

सोमवार देर शाम को जिले में एक साथ कोरोना पॉजिटिव के 26 मामले सामने आए थे। उनसे जब पता चला कि एक पॉजिटिव का उपचार डायलासिस यूनिट में भी चल रहा था और वह पॉजिटिव के संपर्क में आने के बाद स्वयं भी डायलिसिस यूनिट तक पहुंचा था। इसके संपर्क में कई लोग आए हैं। पॉजिटिव पाए गए दो ऐसे लोग भी शामिल हैं, जिनके आगे करीब डेढ़ सौ लोग संपर्क में आ चुके हैं।

हिमाचल ही नहीं पंजाब तक भी पहुंचे पॉजिटिव के संपर्क

ऊना में साेमवार को कोरोना विस्फोट की तपिश पंजाब तक भी पहुंच चुकी है। इसमें दो ऐसे लोग हैं, जिनके कारण सामुदायिक फैलाव का खतरा पैदा हो गया है। ये लोग देहलां में हुई एक मौत पर शोकसभा में शामिल हुए थे और नंगल पंजाब में भी वे एक संस्कार में पहुंचे थे, जहां कई लोग शामिल थे। ऐसे में इन लोगों से हुए सामुदायिक संक्रमण के खतरे को कम करने के लिए हिमाचल और पंजाब के स्वास्थ्य महकमे की टीमें जुट गई हैं। सीएमओ डाॅ. रमन शर्मा ने बताया कि पूरी संपर्क हिस्ट्री तैयार की जा रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।