चीन के 59 एप पर लगा बैन,लेकिन अब तक प्ले स्टोर/ऐप स्टोर पर क्यों दिख रहे हैं ये ऐप्स? लोगो को नहीं मिल रहा है जवाब …
June 30th, 2020 | Post by :- | 182 Views

नई दिल्ली। सरकार ने बीते सोमवार को 59 चाइनीज ऐप्स को भारत में इस्तेमाल करने से बैन कर दिया है। इनमें टिकटॉक, लाइक, यूकैम मेकअप, क्लब फैक्ट्री और शीन जैसे ऐप शामिल हैं। सोशल मीडिया पर 59 चीनी ऐप्स को लेकर लोग कई तरह के सवाल पूछ रहे हैं। जैसे – ऐप काम करेगा या नहीं, अब तक क्यों डाउनलोड का ऑप्शन दिख रहा है।

सवाल : भारत सरकार ने 59 चीनी ऐप्स को बैन करने का ऐलान किया है। क्या ये ऐप्स अब आपके स्मार्टफोन में काम करना बंद कर देंगे?

जवाब: अभी के लिए नहीं बंद होंगे। ऐप बैन और ब्लॉक दो चीजें हैं, जिन्हें पहले समझना होगा. इससे पहले भी चीनी ऐप्स भारत में बैन किए जा चुके हैं।

सरकार की रिक्वेस्ट के बाद कंपनियां कुछ समय लेती हैं और इसके बाद इन्हें ऐप प्लेटफॉर्म से हटाया जाता है।

सोशल मीडिया पर लोग लगातार ये सवाल पूछ रहे हैं कि ये किस तरह का बैन है। क्योंकि ऐप तो अब भी काम कर रहे हैं और ये अब तक प्ले स्टोर और ऐप स्टोर में डाउनलोड के लिए उपलब्ध हैं तो फिर इसे कैसे बैन कहा जाए।

ऐप बैन करने की स्थिति में आम तौर पर सरकार की तरफ गूगल और ऐपल को अपने भारतीय ऐप स्टोर से इन ऐप्स को हटाने के लिए कहा जाता है. इसमें थोड़ा वक्त लगता है।

अब तक प्ले स्टोर/ऐप स्टोर पर क्यों दिख रहे हैं ये ऐप्स?

खबर लिखे जाने तक Android के गूगल प्ले स्टोर और Apple के ऐप स्टोर पर ये सभी 59 चीनी ऐप्स लाइव हैं। यानी अब भी यूजर्स इन्हें डाउनलोड कर सकते हैं।जो लोग ये ऐप यूज करते हैं उनके पास ये ऐप काम भी कर रहे हैं।

Tik Tok ऐप यूजर्स और कॉन्टेंट का क्या होगा?

एक बड़ा सवाल कॉन्टेंट को लेकर भी है। भारत में TikTok के करोड़ों यूजर्स हैं। ऐसे में टिक टॉक के वीडियोज कहां जाएंगे? यूजर्स टिक टॉक पर कॉन्टेंट से पैसे भी कमाते हैं उन यूजर्स का डेटा कहां रखा जाएगा?

जिन स्मार्टफोन यूजर्स के पास टिक टॉक पहले से ही इंस्टॉल्ड है, क्या वो इस ऐप को यूज कर पाएंगे?

गौरतलब है कि भारत में पहले भी कुछ चीनी ऐप्स को बैन किया गया है। इनमें Tik Tok भी है। तब भी बैन करने के बाद इसे गूगल प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से हटा दिया गया था। यानी कोई नया यूजर इसे इंस्टॉल नहीं कर सकता था।

यानी अगर इस बार पिछली बार की तरह ही सरकार बैन लगाती है तो आपके स्मार्टफोन का ऐप काम करता रहेगा. कॉन्टेंट भी अपलोड कर सकेंगे. लेकिन नया यूजर इसे डाउनलोड नहीं कर पाएगा. पिछली बार ये भी देखने को मिला था कि टिक टॉक ऐप को लोग एक दूसरे के साथ मोबाइल से शेयर करने लगे.

अब टिक टॉक को छोड़ कर दूसरे चीनी ऐप्स की बात करें तो शायद इन ऐप्स के साथ भी इसी तरह का नियम लागू होगा। यानी सरकार गूगल और ऐपल से इसे अपने ऐप प्लेटफॉर्म से हटाने के लिए कहेगी। प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से हटाए जाने के बाद ये ऐप काम करता रहेगा।

पूरी तरह बैन होने पर ऐप्स यूज नहीं किए जा सकेंगे?

नहीं: यदि सरकार चाहे तो ये सभी 59 ऐप्स को पूरी तरह ब्लॉक कर सकती है। इसके लिए सरकार आईपी एड्रेस का सहारा ले सकती है। ऐसा करने से यूजर इन ऐप्स को यूज ही नहीं कर पाएंगे। हालांकि इन सब के बावजूद कई तरीके हैं जिनसे ये ऐप्स यूज किए जा सकते हैं जो ट्रिकी हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।