इसी वर्ष सितम्बर तक ऊना में पाइपलाइन के जरिए हर रसोई को मिलेगी गैस #news4
July 22nd, 2021 | Post by :- | 23 Views

ऊना : घर-घर तक रसोई गैस का सपना ऊना में इसी वर्ष सितम्बर माह के अंत तक पूरा हो जाएगा। भारत गैस लिमिटेड ने रक्कड़ कालोनी में गैस भंडारण का कार्य पूरा करने के साथ ही घर-घर तक पाइप लाइन बिछाने की कवायद शुरू कर दी है। इसके तहत जलग्रां टब्बा पंचायत के तहत आती रक्कड़ कालोनी तथा ग्रीन एैवेन्यू कालोनी सहित आसपास की सभी कालोनियों को रसोई गैस की पाइप लाइन से जोडऩे का काम लगभग पूरा कर दिया है। ज्यों ही गैस भंडारण में गैस की सप्लाई आएगी त्यों ही लोगों को गैस सिलैंडर से मुक्ति मिल जाएगी। इसी प्रकार ऊना के शहर के वार्ड-4 में भी पाइप लाइन बिछाने का कार्य आरंभ कर दिया गया है। सितम्बर माह तक शहर के अधिकतर हिस्सों को कवर कर दिया जाएगा। यानी हर रसोई सीधे रसोई गैस पाइप लाइन से जुड़ जाएगी।

जिला ऊना का आजौली ऐसा पहला गांव है जहां के 250 घर इस समय सीधे तौर पर गैस पाइप लाइन से जुड़ चुके हैं और नियमित रूप से सप्लाई की जा रही है। इसके बाद जिला मुख्यालय ऊना और आसपास के क्षेत्र भी जुड़ेंगे जिसके उपरांत नगर पंचायत मैहतपुर-बसदेहड़ा को भी जोड़ा जाएगा। तमाम औपचारिकताएं पूरी होने के बाद नया नंगल स्थित गैस भंडार से सीधे प्रत्येक रसोई को इसके साथ जोड़ दिया जाएगा। नगर पंचायत मैहतपुर बसदेहड़ा ने अपना अनापत्ति प्रमाण पत्र इस संंबंध में भारत गैस लिमिटेड को जारी कर दिया है। ऊना में नैशनल हाइवे अथारिटी की एन.ओ.सी. मिलने के साथ रक्कड़ कालोनी की गैस भंडारण की पाइप लाइन की सीधी ऊना तक पहुंच जाएगी और इसी वर्ष पूरे शहर सहित आसपास के क्षेत्रों को गैस की सप्लाई शुरू हो जाएगी।

पाइप लाइन के जरिए पहुंचने वाली रसोई गैस न केवल मौजूदा गैस सिलैंडर की दरों से 30 प्रतिशत सस्ती होगी बल्कि यह पूरी तरह से सुरक्षित भी होगी। सबसे बड़ी खासियत यह होगी कि पाइप लाइन के जरिए रसोई तक पहुंचने वाली गैस का बिल की अदायगी 2 माह बाद करनी होगी जबकि रसोई गैस सिलैंडर भरने के लिए एडवांस में राशि देनी पड़ती है। यानी इस गैस पाइप लाइन का लाभ काफी अधिक होगा। न केवल सस्ती बल्कि कम खतरा और खपत के बाद ही इसका बिल अदा करना होगा। सिलैंडर के खत्म होने का झंझट भी पूरी तरह से खत्म हो जाएगा।

जिला ऊना के बाद हमीरपुर और बिलासपुर में भी भारत गैस लिमिटेड ने भंडारण के लिए जगह तलाशनी शुरू कर दी है। ज्यों ही जगह उपलब्ध होगी त्यों ही वहां कार्य आरंभ हो जाएगा। कम्पनी के प्रतिनिधियों ने हमीरपुर और बिलासपुर में इसके लिए कदमताल शुरू कर दी है ताकि दोनों जिला मुख्यालयों को गैस पाइप लाइन से जोड़ा जा सके। 22 नवम्बर, 2018 में तत्कालीन केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी.नड्डा, सांसद अनुराग ठाकुर की मौजूदगी में हमीरपुर संसदीय हलके के तीनों शहरों ऊना, हमीरपुर और बिलासपर को जोड़े जाने के कार्य का आगाज किया था। उसके बाद कम्पनी ने नंगल तक पाइप लाइन पहुंचाने तथा इसके पहले गांव अजौली को जोडऩे का कार्य पूरा कर दिया था। अब बाकी शहरों को जोड़ा जाएगा।

भारत गैस लिमिटेड के सहायक प्रबंधक अमरवीर कंग ने माना कि कम्पनी ने तेजी के साथ कार्य को पूरा करने के लिए कदमताल शुरू की है। आजौली गांव जुड़ चुका है, रक्कड़ कालोनी में पाइप लाइन हर रसोई तक पहुंचा दी गई है। ऊना शहर को जोडऩे का कार्य शुरू कर दिया है। इसी वर्ष सितम्बर तक सप्लाई शुरू कर दी जाएगी। हमीरपुर और बिलासपुर में भी जगह मिलने के साथ ही रसोई गैस भंडारण का कार्य शुरू होगा और पाइप लाइन से हर रसोई को जोड़ दिया जाएगा। पाइप लाइन के जरिए मिलने वाली गैस 30 प्रतिशत सस्ती होगी, सुरक्षित होगी और इसमें जोखिम भी नहीं होगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।